Categories
B Praak Hindi Lyrics New Released Lyrics Song Lyrics

तेरी मिटटी Teri Mitti Lyrics-Hindi LyricsSeries

Singer: B Praak
Lyrics: Manoj Muntashir
Music: Arko
Cast: Akshay Kumar & Parineeti Chopra
Director: Anurag Singh
Music Label: Zee Music Company


गायक: बी प्रैक
गीत: मनोज मुंतशिर
संगीत: अर्को
कास्ट: अक्षय कुमार और परिणीति चोपड़ा
निर्देशक: अनुराग सिंह
म्यूजिक लेबल: ज़ी म्यूजिक कंपनी

Teri Mitti Lyrics: A heartfelt patriotic song from the movie Kesari starring Akshay Kumar. The soulful musician from Bengal – Arko has composed the beautiful song. It has been sung by Punjabi ace music director B Praak. The lyrics of the patriotic song are penned down by Manoj Muntashir who has written some extraordinary thoughts that generations from now will remember. This is one of the best patriotic song ever made in India.
तेरी मिट्टी के बोल: अक्षय कुमार अभिनीत फिल्म केसरी का एक दिलकश देशभक्ति गीत।  बंगाल के आत्मीय संगीतकार – अर्को ने सुंदर गीत की रचना की है।  इसे पंजाबी ऐस म्यूजिक डायरेक्टर बी प्रैक ने गाया है।  देशभक्ति गीत के बोल मनोज मुंतशिर ने लिखे हैं, जिन्होंने कुछ असाधारण विचार लिखे हैं, जो अब की पीढ़ियों को याद रहेंगे।  यह भारत में बना अब तक का सबसे अच्छा देशभक्ति गीत है।

Teri Mitti Lyrics-Hindi LyricsSeries

तलवारों पे सर वार दिए
अंगारों में जिस्म जलाया है
तब जाके के कहीं हमने सर पे
यह केसरी रंग सजाया है
ऐ मेरी ज़मीन अफ़सोस नहीं
जो तेरे लिए सौ दर्द सहे
महफ़ूज़ रहे तेरी आन सदा
चाहे जान मेरी ये रहे ना रहे
ऐ मेरी ज़मीन महबूब मेरी
मेरी नस नस में तेरा इश्क़ बहे
फीका ना पड़े कभी रंग तेरा
जिस्मों से निकल के ख़ून कहे
तेरी मिट्टी में मिल जावाँ
गुल बनके मैं खिल जावाँ
इतनी सी है दिल की आरज़ू
तेरी नदियों में बह जावाँ
तेरे खेतों में लहरावाँ
इतनी सी है दिल की आरज़ू
वो ओ…
सरसों से भरे खलिहान मेरे
जहाँ झूम के भंगड़ा पा ना सका
आबाद रहे वो गाँव मेरा
जहाँ लौट के वापस जा ना सका
हो वतना वे, मेरे वतना वे
तेरा मेरा प्यार निराला था
कुर्बान हुआ तेरी अस्मत पे
मैं कितना नसीबों वाला था
तेरी मिट्टी में मिल जावाँ
गुल बनके मैं खिल जावाँ
इतनी सी है दिल की आरज़ू
तेरी नदियों में बह जावाँ
तेरे खेतों में लहरावाँ
इतनी सी है दिल की आरज़ू
ओ हीर मेरी तू हँसती रहे
तेरी आँख घड़ी भर नम ना हो
मैं मरता था जिस मुखड़े पे
कभी उसका उजाला कम ना हो
ओ माई मेरी क्या फ़िक़र तुझे
क्यूँ आँख से दरिया बहता है
तू कहती थी तेरा चाँद हूँ मैं
और चाँद हमेशा रहता है
तेरी मिट्टी में मिल जावाँ
गुल बनके मैं खिल जावाँ
इतनी सी है दिल की आरज़ू
तेरी नदियों में बह जावाँ
तेरे खेतों में लहरावाँ
इतनी सी है दिल की आरज़ू

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *